ब्लाग विवरण, संपर्कसूत्र-

प्रतिभा और प्रबंधन में विश्व का श्रेष्ठतम होते हुए भी शर्मनिरपेक्ष राजनिति के दुष्प्रभाव से उसे बदरंग बनाती परिस्थितियों में उचित मार्ग अपना कर श्रेष्ठता प्रमाणित की जा सकती है देश की श्रेष्ठ प्रतिभा, प्रबंधन पर शर्मनिरपेक्ष राजनिति के ग्रहण की परिणति क्या होगी यही दर्शाने का प्रयास है(निस्संकोच ब्लॉग पर टिप्पणी/अनुसरण/निशुल्क सदस्यता व yugdarpan पर इमेल/चैट करेंसंपर्क सूत्र -तिलक संपादक युगदर्पण 09911111611, 09999777358

आ.सूचना,

: : : सभी कानूनी विवादों के लिये क्षेत्राधिकार Delhi होगा। हमारे ब्लाग पर प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक/संपादक का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक/संपादक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। अनैतिक,अश्लील, असामाजिक,राष्ट्रविरोधी, धर्म/सम्प्रदाय विरोधी, मिथ्या, तथा असंवैधानिक कोई भी सामग्री यदि प्रकाशित हो जाती है। यदि कोई भी पाठक कोई भी आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं व तत्काल संचालक/संपादक मंडल को सूचित करें तो वह तुंरत प्रभाव से हटा दी जाएगी एवम लेखक सदस्यता भी समाप्त करदी जाएगी।: : "प्रतिभा प्रबंधन परिणति दर्पण" पर आपका हार्दिक स्वागत है.इस ब्लॉग पर अपनी प्रकाशित और अप्रकाशित रचनाये भेज सकते हैं,रचनाएँ स्वरचित है इसका सत्यापन कर ई-मेल yugdarpanh@gmail.com पर भेजें ,ये तो आपका ही साझा मंच है.धन्यवाद: :

बिकाऊ मीडिया -व हमारा भविष्य

: : : क्या आप मानते हैं कि अपराध का महिमामंडन करते अश्लील, नकारात्मक 40 पृष्ठ के रद्दी समाचार; जिन्हे शीर्षक देख रद्दी में डाला जाता है। हमारी सोच, पठनीयता, चरित्र, चिंतन सहित भविष्य को नकारात्मकता देते हैं। फिर उसे केवल इसलिए लिया जाये, कि 40 पृष्ठ की रद्दी से क्रय मूल्य निकल आयेगा ? कभी इसका विचार किया है कि यह सब इस देश या हमारा अपना भविष्य रद्दी करता है? इसका एक ही विकल्प -सार्थक, सटीक, सुघड़, सुस्पष्ट व सकारात्मक राष्ट्रवादी मीडिया, YDMS, आइयें, इस के लिये संकल्प लें: शर्मनिरपेक्ष मैकालेवादी बिकाऊ मीडिया द्वारा समाज को भटकने से रोकें; जागते रहो, जगाते रहो।।: : नकारात्मक मीडिया के सकारात्मक विकल्प का सार्थक संकल्प - (विविध विषयों के 28 ब्लाग, 5 चेनल व अन्य सूत्र) की एक वैश्विक पहचान है। आप चाहें तो आप भी बन सकते हैं, इसके समर्थक, योगदानकर्ता, प्रचारक,Be a member -Supporter, contributor, promotional Team, युगदर्पण मीडिया समूह संपादक - तिलक.धन्यवाद YDMS. 9911111611: :

Wednesday, 5 November 2014

दिल्ली विधानसभा को, राष्ट्रपति ने भंग किया, चुनाव जनवरी में?

डॉ हर्षवर्धन, सतीश उपाध्याय और प्रभात झा (फाइल फोटो)
युदस नई दिल्ली दिल्ली विधानसभा को केन्द्रीय मंत्रिमंडल की अनुशंसा पर भंग करने से, राष्ट्रीय राजधानी में नये चुनाव का मार्ग प्रशस्त हुआ और फरवरी में ‘आम आदमी पार्टी’ सरकार के गिरने के बाद से यहां बनी राजनीतिक अनिश्चितता समाप्त हो गयी। गृह मंत्रालय द्वारा जारी एक अधिसूचना में कहा गया कि राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने ‘‘दिल्ली राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र’’ की विधान सभा को तत्काल प्रभाव से 4 नवम्बर मंगलवार को भंग कर दिया। 
दिल्ली के उपराज्यपाल नजीब जंग ने भाजपा, ‘आप’ और कांग्रेस के साथ बातचीत कर, सरकार बनाने में इन तीनों दलों के असमर्थता व्यक्त करने की अपनी जानकारी भेजी थी।दिल्ली में अब अधिसूचना जारी होने पर विधानसभा चुनाव 2015 के आरम्भ में हो सकते हैं, जबकि विधानसभा की तीन सीटों के लिए 25 नवम्बर को होने वाले उपचुनाव की प्रक्रिया को चुनाव आयोग ने आज रद्द कर दिया। इस उपचुनाव के लिए नामांकन प्रस्तुत करने का आज अंतिम दिन था। भाजपा के दिल्ली प्रभारी प्रभात झा ने कहा कि पार्टी विकास के मुद्दे पर चुनाव लड़ेगी और दिल्‍ली में अपना मु मं प्रत्याशी घोषित नहीं करेगी। प्रदेश अध्यक्ष सतीश उपाध्याय ने भी कहा कि भाजपा सामूहिक नेतृत्व में चुनाव लड़ेगी। 

केजरीवाल की गंदी राजनीति: बिन्नी

विनोद कुमार बिन्नीनई दिल्ली आम आदमी पार्टी से निष्कासित लक्ष्मीनगर के विधायक विनोद कुमार बिन्नी ने आप नेता अरविंद केजरीवाल और मनीष सिसौदिया पर पर्दे के पीछे से गंदी राजनीति करने और दिल्ली में फिर से आप की सरकार बनवाने के लिए, उन्हें अपने पाले में लाने के करने का आरोप लगाया है। बिन्नी के अनुसार रविवार को मनीष सिसौदिया ने गत 10-12 माह से उनके कार्या, का कामकाज देख रहे, उनके कर्मी शकील को अपने कार्या, पर बुलाया और उससे कहा कि कांग्रेस के 6 लोग हमारे साथ आने को राजी हैं। यदि बिन्नी भी रामबीर शौकीन और शोएब इकबाल को साथ लाकर हमें समर्थन दे दें, तो दिल्ली में फिर से आम आदमी पार्टी की सरकार बन सकती है।
बिन्नी का दावा है कि शकील ने इस मामले में प्रत्युत्तर नहीं दिया और वापस आकर मुझे सब कुछ बताया। बिन्नी का कहना है कि मैंने इस बारे में आप नेताओं से तो कोई बात नहीं की, किन्तु उनके इस कदम से यह अवश्य स्पष्ट हो गया कि पर्दे के पीछे से, वो कैसी राजनीति कर रहे हैं। जबकि मीडिया और जनता के सामने; वो विधानसभा भंग कर, नए सिरे से चुनाव कराने की मांग करते हैं। मनीष सिसौदिया ने बिन्नी के इस दावे को सरासर झूठ और बकवास करार देते हुए कहा कि वह न तो बिन्नी के 'ऑफिस बॉय' को जानते हैं और ना ही उसे अपने कार्या पर बुलाया था। राजनीती में कौन सच्चा कौन झूठा कैसे जाने ? जब .....
जब नकारात्मक बिकाऊ मैकालेवादी, शर्मनिरपेक्ष मीडिया जनता को भ्रमित करे, 
तब पायें; इसका एक मात्र सार्थक, व्यापक, विकल्प युगदर्पण 13 वर्ष से सतत संघर्षरत 
इस देश को लुटने से बचाने हेतु तथा विश्व कल्याणार्थ, जड़ों से जुड़ें युगदर्पण के संग। भारत को नकारात्मक बिकाऊ मैकालेवादी मीडिया, से मुक्त बनायें ! पत्रकारिता व्यवसाय नहीं, एक पुनीत संकल्प है। 
देश की श्रेष्ठ प्रतिभा, प्रबंधन पर राजनिति के ग्रहण की परिणति दर्शाने का प्रयास | -तिलक संपादक